जयपुरराजस्थान

क्या आपके फोन में भी है ‘आरोग्य सेतु एप’, पर हिंदुस्तानी या पाकिस्तानी? पढ़े पुरी खबर…

आर्यव्रत न्यूज़,जयपुर :- पड़ोसी देश पाकिस्तान की एक और नापाक हरकत सामने आई है. इस बार पाक हैकर्स ने टार्गेटेड अभियान शुरू किया. पाक हैकर्स सरकारी अधिकारियों कर्मचारियों का डाटा हैक करने की कोशिश में लगे हुए हुए हैं. इसे लेकर केंद्रीय इंटेलिजेंस ब्यूरो ने राज्यों के इंटेलिजेंस ब्यूरो को सतर्क किया है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अतिरिक्त निदेशक इंटेलिजेंस ब्यूरो ने राज्य के एडिशनल डीजी इंटेलिजेंस उमेश कुमार मिश्रा को पत्र लिखकर अलर्ट किया है. मंत्रालय ने मैसेज जारी कर कहा है कि पाकिस्तानी हैकर्स सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को एंड्राइड मोबाइल पर मैसेज और व्हाट्सएप भेज रहे हैं. हैकर्स विशेष संदेश के मार्फत एक लिंक भी भेज रहे हैं. साथ ही नकली आरोग्य सेतु एप (Aarogya Setu) डाउनलोड करने के लिए कह रहे हैं.

ऐप डाउनलोड होते ही यूज़र का डेटा हैक
गृह मंत्रालय ने चेताया है कि हैकर्स द्वारा आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए भेजे गए लिंक को खोलते ही एप चैट मी खुल जाता है. इसके बाद ऐप यूजर का डेटा भारत के बाहर विरोधियों के पास चला जाता है. देश में केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कर्मचारियों अधिकारियों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के निर्देश दिए हैं. पाकिस्तानी हैकर्स इसी का फायदा उठाकर नकली आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए लिंक भेज रहे हैं.

गृह मंत्रालय ने ऐप डाउनलोड करते वक्त बताई सावधानियां
इंटेलिजेंस ब्यूरो ने आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करते समय बरती जाने वाली सावधानियों की एडवाइजरी जारी की है. कर्मचारी या अधिकारी के मोबाइल पर आरोग्य सेतु एप का लिंक आता है. इस लिंक को खोलते ही चैट में ऐप खुल जाता है. चैट मी ऐप को मोबाइल में स्टोरेज परमिशन की जरूरत पड़ती है. स्टोरेज स्वीकृति मिलते ही अतिरिक्त सेटिंग अपने आप डाउनलोड हो जाती है. इसके बाद ऐप डेटा बाहर आईपी एड्रेस पर और डोमेन पर एक्सचेंज करना शुरू कर देता है.

यूज़र द्वारा की जाने वाली 
– यदि किसी यूजर को आरोग्य सेतु ऐप के लिंक के साथ किसी अन्य स्रोत से एसएमएस या व्हाट्सएप या संदेश प्राप्त होता है, तो उसे तुरंत हटा देना चाहिए.
– यदि यूजर अनजाने में इस तरह के  लिंक को क्लिक करता है, तो उसे डिवाइस को फ़ैक्टरी रीसेट कर लें.
–  उपयोग ली जा रही सभी इंटरनेट सेवा के पासवर्ड बदल लें.
– ऑपरेटिंग सिस्टम और सुरक्षा ऐप्स को अपडेट करें.
– यूजर अधिकारिक रूप से आरोग्य सेतु एप को केवल Google Play Store और Apple Store से करें.

इन अधिकारियों को दिया अलर्ट का निर्देश
केंद्रीय गृह मंत्रालय का अलर्ट मिलने के बाद एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने राज्य के सभी पुलिस अधीक्षकों को मंत्रालय की गाइडलाइन जारी कर कार्यवाही के निर्देश दिए. उसके बाद संबंधित पुलिस अधीक्षकों ने अपने-अपने जिले में थाना अधिकारियों वृत्त अधिकारियों और एडिशनल एसपी को आवश्यक कार्यवाही के लिए लिखा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat
Close